Law Career Options

यह गुजरे जमाने की बात हो गई जब Law करने के बाद युवाओं के लिए वकील या जज बनने के एकमात्र options हुआ करते थे। लेकिन आज Law करने वालों के लिए कई career options मौजूद है जैसे Taxation Law, IP Law आदि जिनका युवा अपनी मर्जी के अनुसार चयन कर सकते है। आज government से लेकर corporate sectors तक Law Students को अपने यहां Legal Officer , Adviser, Consultant के तौर पर नियुक्त करते है। अब Law युवाओं के मध्य में लोकप्रिय Career Course के रूप में लोकप्रिय हो रहा है जिसके जरिये युवा Law को अपने Career के रूप में अपना कर सपने साकार कर रहे है। यदि आप भी Law में Career बनाना चाहते है तो यहॉं आपके लिये खुला आसमान हैं।

10+2 (बारहवीं) पूरी करने के बाद Law को अपने Career के रूप में चुन सकते है। वर्तमान समय में जनता अपने अधिकारों को जानने लगी है तथा साथ ही कानूनी प्रक्रियाओं के बारे में जागरूकता बढी है। इस कारण आज Law experts (वकील) की मांग में कई गुणा वृद्धि हुई है। आज वकील सिर्फ कोर्ट रूम तक सीमित नहीं है बल्कि कोर्ट के बाहर भी अन्य क्षेत्रों में जैसे Media व Banking Sector में भी अच्छे वकीलों की मांग बढ रही है। सभी बडी कंपनीया अपने यहॉं के कानूनी मसलों की देख रेख हेतु अच्छे Layers को हॉयर करती है और यदि  वह विदेशी कानून के बारे में भी जानकारी रखते है तो उसे वहाँ भी मौका दिया जाता है।

यदि आप भी Law में Career बनाना चाहते है तो इस लेख को पढकर आपकों लॉ में अपना Career कैसे बनायें यह समझने में सहायता मिलेगी। आपको इस पैशे में Career बनाने के लिये धैर्य के साथ कडी मेहनत करनी होगी तथा साथ ही आपका तार्किक होना तथा दृढ निष्चयी होना भी बहुत जरूरी है। अपने तर्को के द्वारा आप अपनी बात को दूसरों से मनवा सकते है। यदि आपमें यह सब गुण है तो आप लॉ से संबंधित विकल्प जैसे आपराधिक कानून, साइबर कानून, पेटन्ट कानून, कॉर्पोरेट कानून व पर्यावरण कानून चुनकर अपने करियर की नीव रख सकते है।

लॉ विषय का चुनाव करने वाले अक्सर दो विकल्प चुनते है एक पांच वर्ष का एकीकृत लॉ कोर्स तथा दूसरा तीन वर्ष का लॉ प्रोग्राम। इन दोनो विकल्पों में से पहला पांच वर्षीय एकीकृत लॉ कोर्स बेहतर चुनाव है। इसके लिये निर्धारित योग्यता किसी भी विषय में 12वीं कक्षा पास होनी चाहिए । पांच वर्ष का एकीकृत लॉ कोर्स करने के लिए आपकों CLAT(Common Law Admission Test) की तैयारी करनी होगी।

CLAT subjects में आने वाले विषय : 1. General English 2. Legal Knowledge 3. General Knowledge 4. Reasoning 5. Maths आदि विषयों के 200 वस्तुनिष्ठ प्रश्नों द्वारा परीक्षार्थी के ज्ञान का परीक्षण किया जाता है। क्लेट के जरिये सम्पूर्ण भारत में मौजूद 19 Law Universities 2300 सीटों पर प्रवेश देती है। CLAT परीक्षा का Online आयोजन मई माह के द्वितीय सप्ताह में किया जाता है। CLAT परीक्षा 2008 में तकीरबन 8000 स्टूडेंटस ने भाग लिया था जबकि वर्ष 2017 में आयोजित CLAT परीक्षा में 50,000 से ज्यादा स्टूडेंटस ने भाग लिया था।

Law Career Options
1. न्यायालय में वकील
2. कॉर्पोरेट फर्म में वकील
3. सिविल सर्विसेज जैसे आईएएस, आईपीएस, आईएफएस आदि
4. लॉ करने के बाद आप न्यायाधीश  बन सकते है।
5. कुछ वर्षों के अनुभव होने पर आप सॉलिसिटर जनरल, लोक अभियोजक भी बन सकते है।
6. सरकारी विभाग तथा मंत्रालयों के साथ काम करना
7. कानूनी सलाहकार
8. कंपनी सेक्रेटरीशिप
9. बैंकिग, निवेश और वित्त
10. राजनीति और अन्य क्षेत्रों सार्वजनिक करियर
न्यायालय में वकील के तौर पर प्रेक्टिस के लिए आपको Bar council of India (BCI) में पंजीकृत कराना होगा तथा शुरूआत में प्रेक्टिस वरिष्ठ वकीलों के साथ ही कर पायेंगे।
भारत में मौजूद Top Law University :
1. नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडियन युनिवर्सिटी, बैंगलुरू
2. नेशनल एकेडमी ऑफ लीगल स्टडी एंड रिसर्च युनिवर्सिटी ऑफ लॉ, हैदराबाद
3. द नेशनल लॉ इंस्टीट्यूट युनिवर्सिटी, भोपाल
4. द वेस्ट बंगाल नेशनल युनिवर्सिटी ऑफ जुरिडिकिल सांइस, कोलकाता
5. नेशनल लॉ युनिवर्सिटी, जौधपुर
6. हिदायतुला नेशनल लॉ युनिवर्सिटी, रायपुर
7. गुजरात नेशनल लॉ युनिवर्सिटी, गांधीनगर
8. डॉ. राममनोहर लोहिया नेशनल लॉ युनिवर्सिटी, लखनऊ
9. राजीव गांधी नेशनल लॉ युनिवर्सिटी, पंजाब
10. चाणक्य नेशनल लॉ युनिवर्सिटी, पटना
11. द नेशनल लॉ युनिवर्सिटी ऑफ एडवांस लीगल स्टडीज, कोच्चि
12. नेशनल लॉ युनिवर्सिटी ओडिषा, कटक
13. नेशनल युनिवर्सिटी ऑफ स्टडी एंड रिसर्च इन लॉ, रांची
14. नेशनल लॉ युनिविर्सिटी एंड जूडिकल एकेडमी, असम
15. दामोदरम संजीवया नेशनल लॉ युनिवर्सिटी, विषाखापटटनम
16. तमिलनाडू नेशनल लॉ स्कूल, तिरूचिरापल्ली
17. महाराष्ट्र नेशनल लॉ युनिवर्सिटी, मुबंई

 

Leave a Reply